रतन टाटा ने भेजा स्पेशल विमान, बड़े बिजनेसमैन ने बुक किया होटल, रोहित सेना का ऐसे हुआ स्वागत...

Global Bharat 04 Jul 2024 3 Mins 1030 Views
रतन टाटा ने भेजा स्पेशल विमान, बड़े बिजनेसमैन ने बुक किया होटल, रोहित सेना का ऐसे हुआ स्वागत...

वर्ल्ड कप जीतने के 96 घंटे बाद टीम इंडिया हिंदुस्तान पहुंची. हाथों में ट्रॉफी, गर्व से भरा दिल और चेहरे पर मुस्कान लेकर रोहित की टीम जैसे ही दिल्ली एयरपोर्ट पर पहुंची. शेर आया, योद्धा आया, दुनिया को जीत आया, रोको की जोड़ी बेजोड़ है, बुमराह का दुनिया में नहीं कोई तोड़ है, का नारा गूंज उठा. उधर टीम फ्लाइट से उतर रही थी. इधर लाखों फैंस पहले से पलकें बिछाएं खड़े थे. कोई पूरी रात नहीं सोया था, तो कोई बस विराट को जी भरकर देखना चाहता था.

एयरपोर्ट पर उतरने के बाद पूरी टीम बस तक पहुंची. विराट ने एय़रपोर्ट पर खड़े कुछ लोगों से बात की. रोहित हाथ में ट्रॉफी पकड़े मुस्कुराते हुए आगे बढ़े. फिर पंत ने ट्रॉफी को अपने कंधे पर रखकर होटल तक पहुंचाया. जबकि रास्ते में ही सूर्यकुमार यादव ने फैंस के साथ भांगड़ा करके इस मोमेंट को औऱ स्पेशल बना दिया.

यहां से सीधा टीम इंडिया आईटीसी मौर्या होटल पहुंची, जहां पूरी रात से तैयारियां चल रही थी. जीत बड़ी थी, इसलिए इंतजाम भी बड़ा करना था. इसके लिए आईटीसी मौर्या के कई सैफ पूरी रात मिलकर एक ऐसा केक तैयार करते हैं, जिसका रंग टीम इंडिया की जर्सी के रंग का होता है. केक के ऊपर चॉकेलट वाली ट्रॉफी लगाई गई थी. जिसके बारे में आईटीसी मौर्या के शेफ बताते हैं कि हम कुछ स्पेशल करना चाहते थे.

इस होटल की खासियत ये है कि यहां का एक-एक सूइट 10-10 लाख रुपये का है. यहां अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा से लेकर बिल क्लिंटन, शाहरूख खान, सचिन और धोनी तक रुक चुके हैं. ये सुपरस्टार की पहली पसंद है. शायद इसीलिए बीसीसीआई ने इस होटल को बुक करने का प्लान बनाया और होटल के स्टाफ को साफ कहा कि नाश्ता कुछ ऐसा होना चाहिए कि पूरी टीम गदगद हो जाए.

नाश्ते में हर खिलाड़ी के पसंद का ख्याल रखा गया. जैसे रोहित को वड़ा पाव पसंद है, तो उनके लिए वड़ा पाव. विराट को छोले-भटूरे पसंद है, तो उनके लिए छोले-भटूरे और जडेजा को गुजराती डिश पसंद है, तो उनके लिए गुजराती डिश की भी व्यवस्था थी. हर खिलाड़ी का डाइट चाइर्ट लेकर बकायदा नाश्ता तैयार किया गया और ये सब एक रात में नहीं हुआ बल्कि 29 तारीख को जैसे ही टीम इंडिया वर्ल्ड कप जीती और आईटीसी होटल को ये ऑर्डर मिला कि आपके यहां टीम इंडिया रुकेगी.

वहां के लोगों ने प्लान बनाना शुरू कर दिया. पर तूफान की वजह से टीम इंडिया चूंकि बारबाडोस में ही फंस गई थी. भंयकर तूफान ने टीम इंडिया के खिलाड़ियों का होटल के कमरे से निकलना भी मुश्किल कर दिया था, इसलिए वापसी में चार दिनों का वक्त लग गया. पहले प्लान था कि टीम इंडिया वहां से सीधा दुबई जाएगी, फिर दुबई से दिल्ली आएगी, लेकिन जीत इतनी बड़ी थी कि कोई भी इतना बड़ा इंतजार नहीं चाहता था और टीम को तूफान से निकालना भी जरूरी था. इसीलिए रतन टाटा ने अपनी एयर इंडिया की स्पेशल फ्लाइट टीम इंडिया को भेजी, जिससे रोहित सेना 4 जुलाई की सुबह 6 बजे दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरी और ऐसा भव्य स्वागत हुआ जो पहले शायद कभी नहीं हुआ हो.

जश्न की जो तस्वीरें एयरपोर्ट से सामने आई, वो साफ बता रही थी कि रोहित शर्मा की टीम ने देश को ट्रॉफी दिलाकर अपना काम कर दिया है. अब बारी है देश की जनता की. देश के उन बड़े दिग्गजों की, जो रोहित को प्यार देंगे. पैसों की भरमार करेंगे और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों को बताएंगे कि ट्रॉफी को सिर माथे पर चढ़ाते हैं.

पैरों की धूल नहीं बनाते, हमारे यहां खिलाड़ी आते हैं तो उनकी स्वागत में पलके बिछाते हैं. ऑस्ट्रेलिया की तरह वर्ल्ड कप विजेता टीम को एयरपोर्ट पर यूं ही अकेले नहीं छोड़ देते. ऑस्ट्रेलियाई टीम जब पिछली बार वर्ल्ड कप जीतकर लौटी थी तो वहां एय़रपोर्ट पर कोई स्वागत नहीं हुआ था, क्योंकि शायद वो संस्कार नहीं जानते. फिलहाल संस्कार नहीं सम्मान की बात करिए, टीम इंडिया को बड़ी जीत की बधाई दीजिए.

Recent News