'दिल्ली चलो' मार्च: पंचकुला में धारा 144 लागू, हरियाणा में इंटरनेट सेवाएं बाधित; 10 तथ्य

Global Bharat 11 Feb 2024 1 Mins 60 Views
'दिल्ली चलो' मार्च: पंचकुला में धारा 144 लागू, हरियाणा में इंटरनेट सेवाएं बाधित; 10 तथ्य

संयुक्त किसान मोर्चा (गैर-राजनीतिक) और किसान मजदूर मोर्चा द्वारा 13 फरवरी को 'दिल्ली चलो' मार्च के आह्वान के चलते हरियाणा के कई जिलों में सुरक्षा व्यवस्थाएं बढ़ा दी गई हैं। इस मार्च में 200 से अधिक किसान संघों के शामिल होने की संभावना है। इस प्रदर्शन का उद्देश्य न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की गारंटी देने वाला कानून बनाने सहित विभिन्न मांगों को पूरा करने के लिए केंद्र की मोदी सरकार पर दबाव बढ़ाना है। जानिए इस मार्च के बारे में 10 महत्वपूर्ण तथ्य:

पंचकुला में धारा 144 लागू 

पंचकुला के डीसीपी सुमेर सिंह प्रताप ने बताया कि पंचकुला में धारा 144 लागू कर दी गई है, जिसके तहत जुलूसों, प्रदर्शनों और हथियार ले जाने पर रोक लगा दी गई है।

बॉर्डर सील 

नियोजित 'दिल्ली चलो' मार्च से पहले अंबाला, जींद और फतेहाबाद जिलों में पंजाब-हरियाणा बॉर्डर को सील करने के लिए विस्तृत व्यवस्था की जा रही है।

ट्रैफिक एडवाइजरी जारी 

हरियाणा पुलिस ने एक ट्रैफिक एडवाइजरी जारी की है, जिसमें यात्रियों से संभावित व्यवधानों के कारण 13 फरवरी को मुख्य सड़कों पर यात्रा सीमित करने का आग्रह किया गया है। दिल्ली और चंडीगढ़ के बीच संभावित भारी यातायात को कम करने के लिए वैकल्पिक मार्ग सुझाए गए हैं।

इंटरनेट सेवाएँ निलंबित 

सार्वजनिक व्यवस्था बनाए रखने और गलत सूचना के प्रसार को रोकने के लिए प्रशासन ने हरियाणा के सात जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं और बल्क एसएमएस को निलंबित कर दिया गया है।

कड़ी सुरक्षा

हरियाणा के डीजीपी और अंबाला के एसपी सहित कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बॉर्डर का निरीक्षण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।

कंक्रीट बैरिकेडिंग और सड़क बंद

शंभू सीमा पर कंक्रीट की बैरिकेडिंग की गई है और सड़क बंद कर दी गई है, साथ ही आवाजाही में बाधा डालने के लिए घग्गर नदी के तल को खोद दिया गया है।

यातायात व्यवधान अपेक्षित

शंभू सीमा के माध्यम से अंबाला की ओर जाने वाले यात्रियों को बड़े पैमाने पर ट्रैफिक जाम का सामना करना पड़ सकता है।

रोकथाम के प्रयासों के बावजूद किसान तैयार 

सरकार द्वारा रोकने की कोशिशों के बावजूद किसान मार्च के लिए तैयारी में जुटे हैं। किसान आवश्यक आपूर्ति के स्टॉक के साथ ट्रैक्टर ट्रॉलियां तैयार कर रहे हैं।

मांगों पर अटल

हाल में हुई केंद्रीय मंत्रियों और किसान नेताओं की बैठकों के बावजूद किसानों ने 'दिल्ली चलो' मार्च का आयोजन किया है जो उनकी अटलता को दर्शाता है।

आगामी मंत्रिस्तरीय वार्ता 

किसान नेता सरवन सिंह पंधेर ने घोषणा की कि केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, अर्जुन मुंडा और नित्यानंद राय बातचीत के लिए 12 फरवरी को चंडीगढ़ पहुंचने वाले हैं।

Recent News