72 घण्टे 03 प्लान, सीमा की वापसी नहीं तिहाड़ जेल की तैयारी,अनाथ आश्रम पहुंची ATS की टीम!

Global Bharat 20 Jul 2023 3 Mins
72 घण्टे 03 प्लान, सीमा की वापसी नहीं तिहाड़ जेल की तैयारी,अनाथ आश्रम पहुंची ATS की टीम!

सीमा का टार्गेट कौन था? अजीत डोभाल? भारत के बड़े नेता? योगी? या फिर राजस्थान की घटना या फिर अतीक की मौत किससे तार जुड़े है? क्या सीमा कुछ ऐसा करने वाली है जो दुनिया में पहली बार होता पर भारत को बहुत बड़ा झटका लगता! अजीत डोभाल का नाम इसलिए लिया क्योंकि कुछ दिन पहले अजीत डोभाल के साथ एक ऐसी घटना घटी थी जिसे पुलिस भी नहीं समझ पाई थी, जिस व्यक्ति को पकड़ा गया था उसका दावा सुनकर IB, RAW सब हिल गए थे…तो क्या सीमा का भी कोई ऐसा प्लान था जिसका अंदाजा ATS को हुआ तो जांच शुरू हो गई!

सीमा एटीएस

16 फरवरी 2022 को हर दिन की तरह अजीत डोभाल के आवास के बाहर कमांडो अपने हथियार लेकर खड़े थे…पर आज कुछ अजीब होने वाला था, जिसके बाद तीन कमांडो से हमेशा के लिए नौकरी छिन ली गई थी, जिसके बाद जांच एजेंसियों के कान खड़े हो गए थे, और खुद डोभाल को अपना दिमाग लगाना पड़ा था…तो सुनिए उस दिन ऐसा क्या हुआ था!

अजीत डोभाल

16 फरवरी 2022 को एक शख्स ने सुबह करीब 7 बजकर 45 मिनट पर तेजी से एक कार अजीत डोभाल के घर में घुसाने की कोशिश करता है, जब ये घटना घटी, उस समय अजीत डोभाल घर पर ही थे…कर्नाटक के रहने वाले शांतनु रेड्डी ने नोएडा से एक कार रेंट पर ली, डोभाल के घर कार लेकर घूस गया, हालांकि उसे गेट पर ही पकड़ लिया गया था पर कमांडो ने फायर नहीं किया जिससे हैरानी जताते हुए जांच एजेंसियों ने सवाल उठाए थे, और तीन कमांडो को हमेशा के लिए नौकरी से हटा दिया गया था,

अजीत डोभाल हमला

जासूस

जांच में पता चला था कि व्यक्ति ने पूछताछ के दौरान बताया कि उसके शरीर में किसी ने चिप लगाया है, और उसका दिमाग कोई और कंट्रोल कर रहा है, हालांकि जांच में चीप तो नहीं मिली पर सवाल यहां ख़त्म नहीं होता है…हमने डोभाल की कहानी से सीमा को इसलिए जोड़ा ताकि आप समझ पाए देश का दुश्मन किसी रूप में आ सकता है…तो क्या सीमा हैदर के दिमाग में भी चीप वाली बात सिर्फ झूठ या फिर सच्चाई है? सीमा जैसी लड़कियां किसी भी व्यक्ति के पास आसानी से पहुंच सकती है, इसलिए पाकिस्तान ने कसाब को भेजने के बजाय मीठा ज़हर भेजा, जो काम भी करता और नाम भी न आता…

सीमा हैदर के दिमाग में कोई चिप तो नहीं है, पर कहानी में कई नए रंग है, ATS को शक है ये किसी बड़े काम के लिए इंडिया आई थी, अजीत डोभाल की टीम, और भारतीय सेना ने आतंकियों की कमर तोड़ दी है, आतंकवादियों के सहारे भारत में कुछ बड़ा करना अब आसान नहीं रहा है इसलिए सीमा हैदर जैसा प्रयोग संभव लगता है…इसलिए शक को देखते हुए अगले 72 घण्टे में सीमा का फैसला होने वाला है

सीमा सचिन और बच्चे

अगर जासूसी के सबूत मिल गए तो सीमा को भारत किसी भी हाल में पाकिस्तान वापस नहीं भेजेगा…भारतीय खुफिया एजेंसियों ने डोभाल के टेबल पर रिपोर्ट रख दी है, डोभाल को ही भारत की सुरक्षा की जिम्मेदारी की बागडोर है, ऐसे में जासूस को छोड़कर भारत अब कोई गलती नहीं करने वाला है, कहा ये तक जा रहा है कि ATS ने बच्चों को पाकिस्तान वापस लौटाने या फिर भारत में ही अनाथ आश्रम में रखने का प्रस्ताव दिया है, और सीमा को कड़ी सजा का प्रस्ताव दिया है, अगले 72 घण्टे में तस्वीर साफ हो जाएगी…

भारत में चुनाव होने वाले हैं, नेता बेफिक्र होकर रोड शो करते हैं, उनपर निशाना बनाना आसान होता है
कुछ सालों में PM मोदी की सुरक्षा में कई बार चूक हो चुकी है,ऐसे में सीमा को इग्नोर नहीं कर सकते!
योगी पाकिस्तान के निशाने पर रहते हैं,कश्मीर में 370 हटा है तब से आतंकी भी काफी परेशान रहते हैं

भारत की बढ़ती रफ्तार से सबसे ज्यादा पाकिस्तान को ही दिक्कत है, इसलिए सीमा को भोला और सच्चा मानने वालों को समझाइए, देश का दुश्मन किसी रूप में आ सकता है, वो कसाब भी हो सकता है, वो अफजल गुरू भी हो सकता है वो नकली चेहरे वाली सीमा हैदर भी हो सकती है…इसलिए सावधान रहिए और सरकार को एक्शन लेने दीजिए…ताकि हिन्दुस्तान की शांति हमेशा बनी रहे…सीमा के साथ क्या होना चाहिए कमेंट में हिस्सा लीजिए और दीजिए अपना जवाब…
ब्यूरो रिपोर्ट…GLOBAL BHARAT TV

https://youtu.be/q0uiJqMidr8

About Author

Global Bharat

Global's commitment to journalistic integrity, thorough research, and clear communication make him a valuable contributor to the field of environmental journalism. Through his work, he strives to educate and inspire readers to take action and work towards a sustainable future.

Recent News