गुजरात में मुफ्त का ऐलान कर रहे थे केजरीवाल, इधर ED के हाथ लग गई पचास करोड़ की रिश्वत

Global Bharat 02 Nov 2022 2 Mins 45 Views
गुजरात में मुफ्त का ऐलान कर रहे थे केजरीवाल, इधर ED के हाथ लग गई पचास करोड़ की रिश्वत

ये कितना सच है ये तो वक्त बताएगा? लेकिन आरोप बेहद गंभीर हैं? क्या बाकी पार्टियों की तरह आम आदमी पार्टी ने भी चंदे के नाम पर जनता को भ्रष्टाचार का फंदा पहना दिया है? हम आपको पूरी सच्चाई बताएं उससे पहले सुनिए ये आरोप किसके हैं? और क्यों केजरीवाल की छवि को एक बड़ा नुकसान पहुंचने वाला है? महज 17 साल की उम्र में ठगी के आरोप में हथकड़ियां पहनने वाले सुकेश चंद्रशेखर की कहानी बड़ी दिलचस्प है. उसने नेताओं से लेकर बॉलीवुड सितारों तक को झांसा दिया है. कारों के शौकीन सुकेश चंद्रशेखर ने जैकलीन फर्नांडिस, नोरा फतेही जैसी कई अभिनेत्रियों पर करोड़ों रुपये लुटाए.

हम उसकी पूरी कुण्डली खोलें उसके पहले आप देखिए आम आदमी वाला खुलासा क्या है? फिलहाल सुकेश दिल्ली के मंडोली जेल में बंद है, और जेल से ही एक हैरान करने वाला दावा किया है…दावा किया जा रहा है कि सुकेश ने एक चिट्ठी लिखी है, राज्यपाल को लिखी चिट्टी में दावा किया है कि उसने 50 करोड़ की रिश्वत दी है, आम आदमी पार्टी ने पद देने के नाम पर ये रकम ली है…पूरी बात हम आपको ग्राफिक्स के ज़रिए समझाते हैं

सुकेश ने जेल में बंद दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को 'प्रोटेक्शन मनी' दी. सुकेश का दावा है कि जैन को 10 करोड़ रुपये दिए गए. केजरीवाल सरकार में मंत्री रहे सत्येंद्र जैन मनी लॉन्ड्रिंग के केस में तिहाड़ जेल में बंद हैं. बीजेपी का आरोप है कि आप नेता उगाही कर रहे हैं. खबर के अनुसार, सुकेश ने दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना को लिखी चिट्ठी में कहा कि उसने आप नेता सत्येंद्र जैन को 2015 से जानता है. सुकेश का दावा है कि उसने AAP को 50 करोड़ रुपये दिए. बदले में उसे दक्षिण भारत में प्रमुख जिम्मेदारी देने का वादा किया गया था. सुकेश चंद्रशेखर इस वक्त 200 करोड़ रुपये की रंगदारी से जुड़े मामले में बंद है, और उसके इस आरोप के बाद सियासी बवंडर आना तय है!

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सुकेश चंद्रशेखर ने हाथ से लिखकर अपने वकील के जरिए एलजी वीके सक्सेना को लेटर भेजा है….जिसमें लिखा है
2017 में मेरी गिरफ्तारी के बाद मुझे तिहाड़ जेल में बंद कर दिया गया और मिस्टर सत्येंद्र जैन कई बार मिलने आए, जिनके पास जेल मंत्री का पोर्टफोलियो था. 2019 में दोबारा जैन आए और उनके सेक्रेट्री ने मुझसे प्रोटेक्शन मनी के नाम पर हर महीने 2 करोड़ रुपये देने को कहा, इसके बदले में मुझे जेल के भीतर सुविधाएं देने की बात कही गई थी.

अब ये दावा कितना सही है ये तो जांच का विषय है लेकिन केजरीवाल जिस राजनीतिक कीचड़ को साफ करने के लिए आए थे, लगता है वो उसमें फंस गए हैं! मोरबी पुल का मामला जैसे ही शांत होगा बीजेपी इसे हवा में उछालेगी और इस बात पर बवाल होना तय है, सुकेश ऐसा ठग है जो किसी को भी ठग सकता है, किसी तक पहुंच सकता है, बॉलीवुड की हीरोइन नोरा फतेही, जैकलीन फर्नांडिस को अपनी जाल में फंसाया, फिर कई IAS अधिकारी के परिवार के लोग भी फंसे, यहां तक कि उसने मंत्री के परिवार को नहीं छोड़ा, कभी गृह मंत्रालय से सचिव बनकर फोन करता तो कभी अमित शाह के आवास के नाम पर फोन कर ठगी करता, तो ये ठग क्या कर सकता है आपको अंदाजा होना चाहिए. केजरीवाल का दावा है कि मोरबी का की घटना को छिपाने के लिए बीजेपी का ये नया हथकंडा है पर चिट्ठी लिखने वाले सुकेश ने जो CBI को बताया है वो तो गंभीर है, फिर केजरीवाल बिना जांच के ही न्याय की बात क्यों कर रहे हैं?

https://youtu.be/iLIliD5CUWE