अतीक का ऑर्डर, अशरफ ने चुने शूटर, प्रयागराज में 7 नहीं 13 शूटर्स थे, क्या है सपा और नेपाल कनेक्शन?

Global Bharat 28 Feb 2023 2 Mins 66 Views
अतीक का ऑर्डर, अशरफ ने चुने शूटर, प्रयागराज में 7 नहीं 13 शूटर्स थे, क्या है सपा और नेपाल कनेक्शन?

प्रयागराज कांड में रोज नए खुलासे हो रहे हैं. एक तरफ एसटीएफ एनकाउंटर कर रही है और दूसरी तरफ पुलिस की तफ्तीश चल रही है. परत दर परत खुलते इस कांड की सारी कड़ियां जाकर अतीक से मिलती हैं. जो गुजरात की जेल में बंद है. इसमें अब तक जो सबसे अहम किरदार सामने आया है उसका नाम सदाकत खान है जो इलाहाबाद विश्वविद्यालय में वकालत का छात्र है. उसी ने खुलासा किया है कि अतीक ने अपने भाई अशरफ अहमद को बोला था कि अपना खौफ कम हो रहा है कुछ बड़ा करना पड़ेगा. फिर अशरफ ने शूटर्स चुने और अतीक के साथ मिलकर पूरा प्लान बनाया. जिसमें लीडर सदाकत को चुना गया. सदाकत मुस्लिम होटल में रहता था तो प्लानिंग वहीं पर होती थी. लेकिन इसमें नेपाल का भी लिंक निकलकर सामने आया है, जो अभी तक पुलिस खोल नहीं रही है वो भी बताएंगे लेकिन उससे पहले जानिए कि ये सात लोग नहीं थे.

कुल 13 शूटर्स तैयार किये गये थे जिनमें से 6 को बैकअप के तौर पर रखा गया था. पुलिस को शक है कि इस शूटआउट में अतीक का बेचा भी शामिल था इसीलिए वो कोई रिस्क नहीं लेना चाहता था. तो फुलप्रूफ प्लान बना था कि अगर किसी वजह से पहली टीम पर कोई हमला होता है तो दूसरी मदद के लिए फौरन पहुंच जाए.

इस पूरे प्लान को बनाने में करीब दो महीने का वक्त लगा. सारे शूटर्स मुस्लिम होस्टल में बैटकर प्लानिंग करते थे और व्हॉट्सएप कॉल पर अतीक अहमदाबाद से जुड़ता था. उसके साथ में अशरफ भी बरेली की जेल से व्हॉट्सएप के जरिए जुड़ता था. पिछले दो महीने में प्रयागराज से अशरफ से कोई मिलने नहीं गया था. वो वहीं के लोकल लोगों से मिल रहा था ताकि कांड के बाद उसका नाम इसमें ना आये.
वारदात को अंजाम देने के बाद शूटर्स को नेपाल भाग जाना था और छोटे शूटर्स को यहीं छोड़ना था. लेकिन सदातक पकड़ा गया. और अतीक का बेटा फरार है. हो सकता है वो नेपाल भाग गया हो. वैसे भी अतीक के नेपाल और कई विदेशों में लिंक हैं तो उसको अपने बेटे को वहां पहुंचाना कोई बड़ी बात नहीं है.
कुल मिलाकर इस हत्याकांड में अभी तक जो सबसे अहम चीजें निकलकर सामने आई हैं. उनमें तीन लोकेशन, 13 किरदार, अतीक और अशरफ की साजिश के अलावा सदाकत और गुलाम की शूटिंग शामिल है.
अब इसमें एसटीएफ का एनकाउंटर भी जोड़ लीजिए. यूपी एसटीएफ तैयारी कर रही है कि एक टीम को नेपाल भी भेजा जाये ताकि अतीक के कुछ ठिकानों को खंगालकर उसके बेटे को पकड़ा जाये.
अब तक पुलिस और एसटीएफ ने मिलकर मेन शूटर सदाकत को गिरफ्तार किया है और ड्राइवर अरबाज का एनकाउंटर किया है. बाकियों की तलाश की जा रही है. अतीक को भी यूपी में लाने की तैयारी है. कल अरबाज के दो साथी जंगल में भागे थे उन्हें भी तलाश किया जा रहा है. इसमें 10 टीमें लगी हुई हैं और 700 पुलिसकर्मी दिन-रात दबिश दे रहे हैं.
अब जो फरार मुख्य शूटर्स हैं उनमें मोहम्मद गुलाम, गुड्डू मुस्लिम, साबिर और अतीक का बेटा शामिल है. 25 फरवरी की सुबह उमेश पाल की पत्नी ने केस दर्ज कराया है. इस मुकदमे में माफिया अतीक अहमद, माफिया की पत्नी शाइस्ता परवीन, 2 बेटे और माफिया का भाई अशरफ साजिशकर्ता के रूप में नामजद हैं. इसके अलावा, माफिया अतीक अहमद के 2 अन्य साथियों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज की गई है. उधर अतीक की पत्नी ने सीएम को चिट्ठी लिखी है और अदालत में भी पहुंची है कि उसके पति और बेटे की जान को खतरा है. पुलिस किसी भी अतीक की पत्नी शाइस्ता को बुलाकर पूछताछ कर सकती है.

https://youtu.be/X0WO5Pg6pvA

Recent News